Zindagi Shayari In Hindi | Shayari On Life | ज़िन्दगी शायरी


Zindagi Shayari In Hindi | Shayari On Life | ज़िन्दगी शायरी



तू कहानी ही के पर्दे में भली लगती है
ज़िंदगी तेरी हक़ीक़त नहीं देखी जाती

-अख़्तर सईद ख़ान


Tu Kahani Ke Parde Bhali Lagti Hai
Zindgi Teri Haqiqat Nahi Dekhi Jaati

-Akhtar Saeed Khan




Shayari On Zindagi



मौत का भी इलाज हो शायद
ज़िंदगी का कोई इलाज नहीं

-फ़िराक़ गोरखपुरी

 

Maut Ka Bhi ilaaz Ho Shayad
Zindgi Ka Koi ilaaz nahi

-Firaaq Gorakhpuri




Zindagi Na Milegi Dobara Shayari



बहाने और भी होते जो ज़िंदगी के लिए
हम एक बार तेेेेरी आरज़ू भी खो देते

-मजरूह सुल्तानपुरी


Bahane Aur Bhi Hote Jo Zindgi Ke Liye
Hum Ek Baar Teri Aarju Bhi Kho Dete

-Majrooh Sultaanpuri




Shayari Zindagi



बाद मुद्दत के यह घडी आई
आप आये तो ज़िन्दगी आई


Baad Muddat Ke Yeh Ghadi Aayi
Aap Aaye Toh Zindgi Aayi




Zindagi Sad Shayari



होश वालों को ख़बर क्या बे-ख़ुदी क्या चीज़ है
इश्क़ कीजे फिर समझिए ज़िंदगी क्या चीज़ है
-निदा फ़ाज़ली


Hosh Waalon Ko Kya Khabar Kya Bekhudi Kya Cheez Hai

Ishq ′Kije Phir Samjhiye Zindgi Kya Cheez Hai

-Nida Fazli




Sher o Shayari On Zindagi


बदल जाती है ज़िन्दगी की सच्चाई ऊस वक़्त
जब कोई तुम्हारा तुम्हारे सामने तुम्हारा नहीं होता


Badal Jaati Hai Zindagi Ki Sachchai Us Wakt

Jab Koi Tumhare Saamne Tumhara Nahi Hota




Shayari On Zindagi In Hindi


ज़िन्दगी का अपना रंग है
दुःख वाली रात सोया नही जाता
और ख़ुशी वाली रात सुने नहीं देती


Zindagi Ka Apna Rang Hai

Dukh Waali Raat Soya Nahi Jaata

Aur Sukh Waali Raat Sone Nahi Deti




Two Line Shayari On Zindagi


ये ज़िन्दगी जो मुझे कर्ज़दार करती रही,
कभी अकेले में मिले तो हिसाब करूँ


Ye Zindagi Jo Mujhe Karzdaar Karti Rahi

Kabhi Akele Me Mile Toh Hisaab Kar Du




Zindagi Shayari Image


मेरी ज़िन्दगी में खुशियाँ तेरे बहाने से है
आधी तुझे सताने से है, आधी तुझे मनाने से है


Meri Zindagi Me Khusiyaan Tere Bahane Se Hai

Aadhi Tujhe Sataane Se Hai, Aadhi Tujhe Manane Se Hai




कुछ इस तरह फ़कीर ने ज़िन्दगी की मिसाल दी
मुट्ठी में धूल ली और हवा में उछाल दी


Kuch Is Tarah Fakeer Ne Zindagi Ki Misaal Di

Mutthi Me Dhool Li Aur Hawa Me Uchaal Di




Best Shayari On Life


कुछ ज़रूरतें पूरी तो कुछ ख्वाहिशें अधूरी
इन्ही सवालों के जवाब हैं ज़िन्दगी


Kuch Jarurate Poore To Kuch Khwahishe Adhoori

Inhi Sawalon Ke Jawaab Hai Zindagi




Shayari On Life In Hindi


लम्हों की खुली किताब हैं ज़िन्दगी
ख्यालों और सांसों का हिसाब हैं ज़िन्दगी


Lamho Ki Khuli Kitaab Hai Zindagi

Khyalon Aur Sanso Ka Hisaab Hai Zindagi





ज़िन्दगी की राहों में.. ऐसा अक्सर होता है
फैसला जो मुश्किल हो वो ही बेहतर होता है


Zindagi Ki Raahon Me..Aisa Aksar Hota Hai

Faisala Jo Mushkil Ho Wo Hi Behatar Hota Hai





Hindi Shayari On Life


आरज़ू,हसरत,तमन्ना और ख़ुशी कुछ भी नही,
ज़िन्दगी में तू नही तो ज़िन्दगी कुछ भी नहीं


Aarju, Hasrat, Tamanna Aur Khushi Kuch Bhi Nahi

Zindagi Me Tu Nahi Toh Zindagi Kuch Bhi Nahi





जो गुज़ारी न जा सकी हम से
हम ने वो ज़िंदगी गुज़ारी है
-जॉन एलिया


Jo Gujaari Na Ja Saki Hamse

Hamne Wo Zindagi Guzaari Hai

-John Elia




Shayari On Life In English


ज़िंदगी शायद इसी का नाम है
दूरियाँ मजबूरियाँ तन्हाइयाँ
-कैफ़ भोपाली


Zindagi Shayad Isi Ka Naam hai

Dooriyaan Majbooriyaan Tanhaaiyaan

-Kaif Bhopali




धूप में निकलो घटाओं में नहा कर देखो
ज़िंदगी क्या है किताबों को हटा कर देखो
-निदा फ़ाज़ली



Dhoop Me Nikalo Ghataon Me Naha Kar Dekho

Zindagi Kya Hau Kitaabon Ko Hata Kar Dekho

-Nida Fazli




ज़िंदगी किस तरह बसर होगी
दिल नहीं लग रहा मोहब्बत में
-जौन एलिया


Zindagi Kis Tarah Basar Hogi

Dil Nahi Lag Raha Mohabbat Me

-Johnb Elia




ज़िन्दगि इस तरह कुछ अर्ज़ है
आधी क़र्ज़ है तो आधी फ़र्ज़ है
-गुलज़ार


Zindagi Is Tarah Kuch Arz Hai

Aadhi Karz Hai Toh Aadhi Farz Hai

-Gulzaar




अब मिरी कोई ज़िंदगी ही नहीं
अब भी तुम मेरी ज़िंदगी हो क्या
-जौन एलिया


Ab Meri Koi Zinadi Nahi

Ab Bhi Tum Meri Zindagi Ho Kya

-John Elia




कोई ख़ामोश ज़ख़्म लगती है
ज़िंदगी एक नज़्म लगती है
-गुलज़ार


Koi Khamosh Zakhm Lagti Hai

Zindagi Ek Nazm Lagti Hai

-Gulzar




देखा है ज़िंदगी को कुछ इतने क़रीब से
चेहरे तमाम लगने लगे हैं अजीब से
-साहिर लुधियानवी


Dekha Hai Zindagi Ko Kuch Itne Kareeb Se

Chehre Tamaam Lagte Lage Hai Ajeeb Se

-Sahir Ludhiyaanwi





दर्द ऐसा है कि जी चाहे है ज़िंदा रहिए
ज़िंदगी ऐसी कि मर जाने को जी चाहे 
-कलीम आजिज़


Dard Aisa Hai Ki Ji Hai Zinda Rahiye

Zindagi Aisi Ki Mar Jaane Ka Ji Chahe

-Kaleem Aaziz




ज़िंदगी एक फ़न है लम्हों को
अपने अंदाज़ से गँवाने का
-जौन एलिया


Zindagi Ek Fan Hai Lamho Ko

Apne Andaaz Se Gawaane Ka

-John Elia




कुछ इस तरह से गुज़ारी है ज़िंदगी जैसे
तमाम उम्र किसी दूसरे के घर में रहा
-अहमद फ़राज़


Kuch Is Tarah Se Guzaari Hai Zindagi Maine

Tamaam Umr Kisi Dusre Ke Ghar Me Raha

-Ahmad Faraz




तुम मोहब्बत को खेल कहते हो
हम ने बर्बाद ज़िंदगी कर ली
-बशीर बद्र


Tum Mohabbat Ko Khel Kehte Ho

Humne Barbaad Zindagi Kar Li

-Bashir Badr




ले दे के अपने पास फ़क़त इक नज़र तो है
क्यूँ देखें ज़िंदगी को किसी की नज़र से हम
-साहिर लुधियानवी


Le De Ke Apne Pass Fakat Ik Nazar Toh Hai

Kyu Dekhe Zindagi Ko Kisi Ki Nazar Se Hum

-Sahir Ludhiyanwi

 


गँवाई किस की तमन्ना में ज़िंदगी मैं ने
वो कौन है जिसे देखा नहीं कभी मैं ने
-जौन एलिया


Gawaai Kis Ki Tamanna Me Zindagi Maine

Wo Kaun Hai Jise Sekha Nahi Kabhi Maine

-John Elia




Zindagi Shayari In Hindi | ज़िन्दगी शायरी


मैं ज़िंदगी का साथ निभाता चला गया
हर फ़िक्र को धुएँ में उड़ाता चला गया
-साहिर लुधियानवी


Mai Zindagi Ka Sath Nibhaata Chala Gaya

Har Fikr Ko Dhue Me Udaata Chala Gaya

-Sahir Ludhiyanwi





गर ज़िंदगी में मिल गए फिर इत्तिफ़ाक़ से
पूछेंगे अपना हाल तिरी बेबसी से हम
-साहिर लुधियानवी


Gr Zindagi Me Mil Gaye Phir Ittefaak Se

Poochenge Apna Haal Bebasi Se Hum

-Sahir Ludhiyanwi



 

ज़िंदगी क्या है इक कहानी है
ये कहानी नहीं सुनानी है
-जौन एलिया


Zindagi Kya Hai, Ik Kahani Hai

Ye Kahani Nahi Sunaani Hai

-John Elia




यूँ ज़िंदगी गुज़ार रहा हूँ तिरे बग़ैर
जैसे कोई गुनाह किए जा रहा हूँ मैं
-जिगर मुरादाबादी


Yun Zindagi Guzaar Raha Hoon Tere Bagair

Jaise Koi Gunaah Kiye Ja Raha Hoon Mai

-Jigar Muraadabadi





आए ठहरे और रवाना हो गए
ज़िंदगी क्या है, सफ़र की बात है
-हैदर अली जाफ़री


Aaye Thehre Aur Rawaana Ho Gaye

Zindagi Kya Hai Safar Ki Baat Hai

-Haidar Ali Zafari




ये माना ज़िंदगी है चार दिन की
बहुत होते हैं यारो चार दिन भी
-फ़िराक़ गोरखपुरी


Ye Maana Zindagi Hai Chaar Din Ki

Bahut Hote Hai Yaaron Chaar Din Bhi

-Firaaq Gorakhpuri





कुछ दिन से ज़िंदगी मुझे पहचानती नहीं
यूँ देखती है जैसे मुझे जानती नहीं
-अंजुम रहबर


Kuch Din Se Zindagi Mujhe Pehchanati Nahi

Yun Dekhti Hai Jaise Mujhe Jaanti Hai

-Anjum Raahbar




Zindagi Shayari In Hindi | ज़िन्दगी शायरी


ज़िंदगी कम पढ़े परदेसी का ख़त है 'इबरत'
ये किसी तरह पढ़ा जाए न समझा जाए
-इबरत मछलीशहरी


Zindagi Kam Padhe Pardeshi Ka Khat Hai 'Ibrat'

Ye Kisi Tarah N Padha Jaaye N Samjha Jaaye

-Ibrat Machlishehari




यही है ज़िंदगी कुछ ख़्वाब चंद उम्मीदें
इन्हीं खिलौनों से तुम भी बहल सको तो चलो
-निदा फ़ाज़ली


Yahi Hai Zindagi Kuch Khwaab Chand Ummidein

Inhi Khilauno Se Tum Bhi Bahal Sako Toh Chalo

-Nisa Fazali




बहाने और भी होते जो ज़िंदगी के लिए
हम एक बार तिरी आरज़ू भी खो देते
-मजरूह सुल्तानपुरी


Bahane Aur Bhi Hote Toh Zindagi Ke Liye

Hun Ek Baar Teri Aarju Bhi Kho Dete

-Majrooh Sultanpuri





बहुत हसीन सही सोहबतें गुलों की मगर
वो ज़िंदगी है जो काँटों के दरमियाँ गुज़रे
-जिगर मुरादाबादी


Bahut Haeen Sahi Sohabtaein Gulon Ki Magar

Wo Zindagi Hai Jo Kaanto Ke Darimiyaan Guzre

-Jigar Muradabaadi




दर्द बढ़ कर दवा न हो जाए
ज़िंदगी बे-मज़ा न हो जाए
-अलीम अख़्तर


Dard Badh Kar Dawa N Ho Jaaye

Zindagi Be-Maza N Ho Jaaye

-Aleem Akhtar




जो लोग मौत को ज़ालिम क़रार देते हैं
ख़ुदा मिलाए उन्हें ज़िंदगी के मारों से
-नज़ीर सिद्दीक़ी


Jo Log Maut Ko Zaalim Karaar Dete Hai

Khuda Milayaye Unhe Zindagi Ke Maaron Se

-Nazeer Siddqui




उसी को कहते हैं जन्नत उसी को दोज़ख़ भी
वो ज़िंदगी जो हसीनों के दरमियाँ गुज़रे
-जिगर मुरादाबादी


Usi Ko Kehte Hai Jannat Usi Ko Dojakh Bhi

Wo Zindagi Kya Jo Haseeno Ke Darmiyaan Guzre

-Jigar Muradabaadi

 


ज़िंदगी जब अज़ाब होती है
आशिक़ी कामयाब होती है
-दुष्यंत कुमार

 

Zindagi Jab Azaab Hoti Hai

Aashiqui Kaamyaab Hoti Hai

-Dushyant Kumar




माँगी थी एक बार दुआ हम ने मौत की
शर्मिंदा आज तक हैं मियाँ ज़िंदगी से हम


Maagi Thi Ek Baar Dua Hamne Maut Ki

Sharminda Aaj Tak Hum Hai Miyaan Zindagi Se Hum




ज़िंदगी की ज़रूरतों का यहाँ
हसरतों में शुमार होता है
-अनवर शऊर


Zindagi Ki Jaruraton Ka Yaha

Hasraton Me Shumaar Hota Hai

-Anwar Shaur




बड़ी तलाश से मिलती है ज़िंदगी ऐ दोस्त
क़ज़ा की तरह पता पूछती नहीं आती
-शानुल हक़ हक़्क़ी


Badi Talash Se Milti Hai Zindagi Ae Dost

Kaza Ki Tarah Pata Poochaati Nahi Aati

-Shanul Hal Haqqi





ज़िंदगी है अपने क़ब्ज़े में न अपने बस में मौत
आदमी मजबूर है और किस क़दर मजबूर है
-अहमद आमेठवी


Zindagi Hai Apne Kabze Me N Apne Bas Me Maut

Aadmi Majboor Hai Aur Kis Qadar Majboor Hai

-Ahmad Aamethavi




जो पढ़ा है उसे जीना ही नहीं है मुमकिन
ज़िंदगी को मैं किताबों से अलग रखता हूँ
-ज़फ़र सहबाई


Jo Padha Hai Use Jeena Hi Nahi Mumkin

Zindagi Ko Mai Kitaabon Se Alag Rakhta Hoon

-Jafar Sahbaai




दिन रात मय-कदे में गुज़रती थी ज़िंदगी
'अख़्तर' वो बे-ख़ुदी के ज़माने किधर गए
-अख़्तर शीरानी


Din Raat May-Kade Me Guzarti Thi Zindagi

'Akhtar' Wo Be-Khudi Ke Zamane Kidhar Gaye

-Akhtar Shiraani




ज़िंदगी ख़्वाब देखती है मगर
ज़िंदगी ज़िंदगी है ख़्वाब नही
-मक़बूल नक़्श


Zindagi Khwaab Dekhti Hai Magar

Zindagi Zindagi Hai Khwaab Nahi

-Maqbool Naks




कटती है आरज़ू के सहारे पे ज़िंदगी
कैसे कहूँ किसी की तमन्ना न चाहिए
-शाद आरफ़ी


Katati Hai Aarju Ke Sahare Pe Zindagi

Kaise Kahun Kisi Ki Tamanna N Chahiye

-Shaad Aarfi





बे-तअल्लुक़ ज़िंदगी अच्छी नहीं
ज़िंदगी क्या मौत भी अच्छी नहीं
-हफ़ीज़ जालंधरी


Be-Talluk Zindagi Achchi Nahi

Zindagi Kya Maut Bhi Achchi Nahi

-Hafeez Jalandhari




मौत ही इंसान की दुश्मन नहीं
ज़िंदगी भी जान ले कर जाएगी
-अर्श मलसियानी


Maut Hi Insaan Ka Dushman Nahi

Zindagi Bhi Jaan Lekar Jayegi

-Arsh Malsiyaani




दर्द उल्फ़त का न हो तो ज़िंदगी का क्या मज़ा
आह-ओ-ज़ारी ज़िंदगी है बे-क़रारी ज़िंदगी
-ग़ुलाम भीक नैरंग


Dard Ulfat Ka N Ho Toh Zindagi Ka Kya Maza

Aah-O-Jaari Zindagi Hai Be-Kakaraari Zindagi

-Gulaam Bheek Nairang




एक सीता की रिफ़ाक़त है तो सब कुछ पास है
ज़िंदगी कहते हैं जिस को राम का बन-बास है
-हफ़ीज़ बनारसी


Ek Sita Ki Rifaqat Hai Toh Sab Kuch Pass Hai

Zindagi Kehte Hai Jis Ko Ram Ka Banbaas Hai

-Hafeez Banarasi

 


ज़िंदगी दी हिसाब से उस ने
और ग़म बे-हिसाब लिक्खा है
-एजाज़ अंसारी


Zindagi Di Hisaab Se Usne

Aur Gum Be-Hisaab Likkha Hai

-Azaaz Ansari




ऐश ही ऐश है न सब ग़म है
ज़िंदगी इक हसीन संगम है
-अली जव्वाद ज़ैदी


Aish Hi Aish Hai N Sab Gum Hai

Zindagi Ik Haseen Sangam Hai

-Ali Javvad Zaidi




ज़िंदगी ज़ोर है रवानी का
क्या थमेगा बहाव पानी का
-अब्दुल हमीद अदम


Zindagi Zor Hai Rawaani Ka

Kya Thamega Bahaav Paani Ka

-Abdul Hameed Adam




लाई है किस मक़ाम पे ये ज़िंदगी मुझे
महसूस हो रही है ख़ुद अपनी कमी मुझे
-अली अहमद जलीली


Laai Hai Kis Makaam Pe Ye Zindagi Mujhe

Mehsoos Ho Rahi Hai Khud Apni Kami Mujhe

-Ali Ahmad Jaleeli

 

Read More - 


Zindagi Shayari In Hindi | Shayari On Life | ज़िन्दगी शायरी Zindagi Shayari In Hindi | Shayari On Life | ज़िन्दगी शायरी Reviewed by Feel neel on October 12, 2019 Rating: 5

1 comment:

Powered by Blogger.