Makar Sankranti Shayari In Hindi | Happy Makar Sankranti Shayari

 

Makar Sankranti Shayari In Hindi | Happy Makar Sankranti Shayari



हमें दुनिया फ़क़त काग़ज़ का इक टुकड़ा समझती है
पतंगों में अगर ढल जाएँ हम तो आसमाँ छू लें - नफ़स अम्बालवी
 
Hamein Duniya Faqat Kagaz Ka Ik Tukada Samajhati Hai

Patango Me Agar Dhal Jaayein Hum Toh Aasmaan Choo Le - Nafas Ambalavi
 
पूर्णिमा का चाँद, रंगों की डोली, चाँद से उसकी चांदनी बोली,
खुशियो से भरे आपकी झोली, मुबारक हो आपको रंग बिरंगी ‘पतंग वाली’ मकर संक्रांति।
 
Purnima Ka Chand, Rango Ki Doli, Chand Se Uski Chandni Boli

Khusiyon Se Bhare Aapki Jholi, Mubarak Ho Aapko Rang-Birangi Patangv Waali Makar Sankraanti
 
सूरज की राशि बदलेगी, बहुतों की किस्मत बदलेगी,
यह साल का पहला पर्व होगा, जब हम सब मिलकर खुशियाँ मनायेगें,
 
Sooraj Ki Raashi Badlegi, Bahuton Ki Kismat Badlegi

Yeh Saal Ka Pehala Parv Hoga, Jab Hum Sab Milkar Khusiyaan Manayenge
 
जिंदगी में है खुशियों की बहार,
मुबारक हो आपको मकर संक्रांति का त्यौहार
 
Zindagi Me Hai Khusiyon Ki Bahaar

Mubarak Ho Aapko Makar Sankraanti Ka Tyohaar
 
इस से पहले की मकर संक्रांति की शाम हो जाए,
मेरा संदेश औरों की तरह आम हो जाए
 
Is Se Pahle Ki Makar Sankraanti Ki Shaam Ho Jaaye

Mera Sandesh Auro Ki Tarah Aam Ho Jaaye -आपको मकर संक्रांति की शुभकामनाएं।
 
फिर पूछना कि कैसे भटकती है ज़िंदगी
पहले किसी पतंग की मानिंद कट के देख - नज़ीर बाक़री
 
Phir Poochana Ki Kaise Bhatakti Hai Zindagi

Pehale Kisi Patang Ki Maanind Kat Ke Dekh -Mazeer Bakari
 
दिल में है छायी मस्ती, मन में भरी है उमंग
उड़ती हैं पतंगें रंग बिरंगी, आसमान में छाया मकर संक्रांति का रंग
 
Dil Me Chaayi Hai Masti, Man Me Bhari Hai Umang

Udati Hai Patange Rang-Birangi, Aasmaan Me Chaaya Makar-Sankraanti Ka Rang
 
पल पल सुनहरे फूल खिलें, कभी ना हो काँटों का सामना
जिंदगी आपकी खुशियों से भरी रहे, संक्रांति पर हमारी यही शुभकामना
 
Pal-Pal Sunahre Phool Khile, Kabhi Na Ho Kaanto Ka Samana

Zindagi Aapki Khusiyon Se Bhari Rahe, Sankraanti Par Hamari Yahi Shubhkamana
 
है प्यारा यह पर्व हमारा, नया दिन और नया उजाला 
मिट जाए सब कलेश दिलों से , मकर संक्रांति पर यही सन्देश हमारा
 
Hai Pyaara Yeh Parv Hamara, Naya Din Aur Naya Ujaala
Mit Jaaye Sab Kalesh Dilon Se, Makar Sankranti Par Yahi Sandesh Hamara
 
तिल हम हैं और गुड़ हो आप, मिठाई हम हैं और मिठास हो आप,
इस साल के पहले त्योहार से, हो रही अब शुरुआत
 
Til Hum Hai Aur Gud Aap, Mithaai Hum Hai Aur Mithaas Ho Aap
Is Saal Ke Pahle Tyohaar Se, Ho Rahi Ab Shuruwaat
 
सोचा किसी अपने से बात करे, अपने किसी खाश को याद करे
किया जो फैसला मकरसंक्रांति की सुभकामनाये देने का, दिल ने कहा क्यों न अपने से शुरुवात करे 
 
Socha Kisi Apne Se Baat Kare, Apne Kisi Khaas Ko Yaad Kare
Kiya Jo Faisala Makar-Sankraanti Ki Shubhkaamnaaye Dene Ka, Dil Ne Kaha Kyo N Apne Se Shuruwaat Kare
 
सुबह से लेकर शाम हो, पतंगों की आसमान में उड़ान हो
मीठे पकवान और आपकी मीठी मुस्कान हो
आपको मकर संक्रांति त्योहार ढेर सारी शुभकामनाएं 
 
Subah Se Lekar Shaam Ho, Patango Ki Aasmaan Me Udaan Ho
Meethe-Pakwaan Aur Aapki Meethi Muskaan Ho
Aapko Makar-Sankraanti Tyohaar Dher Saari Shubhlaamnaaye



Read More - 

    Makar Sankranti Shayari In Hindi | Happy Makar Sankranti Shayari Makar Sankranti Shayari In Hindi | Happy Makar Sankranti Shayari Reviewed by Feel neel on January 06, 2020 Rating: 5

    1 comment:

    Powered by Blogger.