Mohabbat Shayari In Hindi | मोहब्बत शायरी

 

Mohabbat Shayari In Hindi | मोहब्बत शायरी


 

और भी दुख हैं ज़माने में मोहब्बत के सिवा
राहतें और भी हैं वस्ल की राहत के सिवा -फ़ैज़ अहमद फ़ैज़


Aur Bhi Dukh Hai Zamane Me Mohabbat Ke Siva

     Raahtein Aur Bhi Vasl Ki Rahat Ke Siva -Faiz Ahmad Faiz



 

ना जाने मुहब्बत में कितने अफसाने बन जाते है
शमां जिसको भी जलाती है वो परवाने बन जाते है


Na Jaane Mohabbat Me Kitne Afsaane Ban Jaate Hai

Shamma Jisko Jalati Hai Wo Parwaane Ban Jaate Hai


 

Mohabbat Wali Shayari 

वो शख्स जो कभी हारा ही नहीं किसी जंग में 
मोहब्बत में सर कटवाने को तैयार बैठा है


Wo Shaksh Jo Kabhi Haara Hi Nahi Kisi Jung Me

Mohabbat Me Sar Katwaane Ko Taiyaar Baitha Hai



 

यह दुनिया एक लम्हे में तुम्हे बर्बाद कर देगी,
मोहब्बत मिल भी जाये तो उसे मशहूर मत करना


Yeh Duniya Ek Lamhe Me Tumhe Barbaad Kar Degi

Mohabbat Mil Bhi Jaaye Toh Use Mashhoor Mat Karna


Pyar Mohabbat Ki Shayari

मोहब्बत में नहीं है फ़र्क़ जीने और मरने का
उसी को देख कर जीते हैं जिस काफ़िर पे दम निकले -मिर्ज़ा ग़ालिब


Mohabbat Me Nahi Hai Fark Jeene Aur Marne Ka

Usi Ko Dekh Kar Jeete Hai Jis Kaafir Pe Dam Nikle-Mirza Ghalib


 

Shayari On Mohabbat



बहुत रोका लेकिन रोक ही नहीं पाया, 

मुहब्बत बढ़ती ही गयी मेरे गुनाहों की तरह


Bahut Roka Lekin Rok Nahi Paaya

Mohabbat Badhti Gayi Mere Gunaahon Ki Tarah



 

तजुर्बा कहता है, मोहब्बत से किनारा कर लूँ
और दिल कहता है की, ये तजुर्बा दोबारा कर लूँ


Tazurba Kehta Hai, Mohabbat Se Kinaara Kar Lu

Aur Dil Kehta Hai Ki Ye Tazurba Dobara Kar Lu


 

Mohabbat Shayari With Picture



मोहब्बत के दिनों की यहीं खराबी है,

ये रूठ जाये तो फिर लौटकर नहीं आते


Mohabbat Ke Dino Ki Yahi Kharaabi Hai

Ye Rooth Jaaye Toh Lautkar Nahi Aate



 

ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया
जाने क्यूँ आज तिरे नाम पे रोना आया -शकील बदायुनी


Ae Mohabbat Tere Anjaam Pe Rona Aaya

        Jaane Kyu Aaj Tere Naam Pe Rona Aaya -Shakeel Badayuni



Mohabbat Ki Shayari




बड़ा गजब किरदार है मोहब्बत का,

अधूरी हो सकती है मगर ख़तम नहीं


Bada Gajab Kirdaar Hai Mohabbat Ka

Adhoori Ho Sakti Hai Magar Khatm Nahi


 

Izhar e Mohabbat Shayari



दीवान-ए-ग़ज़ल जिसकी मोहब्बत में लिखा था,

वो शक्स किसी और की किस्मत में लिखा था


Deewan-e-Ghazal Jiski Mohabbat Me Likha Tha

Wo Shaksh Kisi Aur Ki Kismat Me Likha Tha



Urdu Shayari Mohabbat Images



ज़िंदगी किस तरह बसर होगी
दिल नहीं लग रहा मोहब्बत में -जौन एलिया


Zindagi Kis Tarah Basar Hogi 

Dil Nahi Lag Raha Mohabbat Me -John Elia



 

अच्छा करते हैं वो लोग जो मोहब्बत का इज़हार नहीं करते 
ख़ामोशी से मर जाते हैं मगर किसी को बदनाम नहीं करते


Achcha Karte Hai Wo Log Jo Mohabbat Ka Ijhaar Nahi Karte hamoshi Se Mar Jaate Hai Magar Kisi Ko Badnaam Nahi Karte




 

वो ना ही मिलते तो अच्छा होता

बेकार ही में मोहब्बत से नफ़रत हो गई


Wo Na Hi Milte Toh Achcha Hota

Bekaar Hi Me Mohabbat Se Nafrat Ho Gayi


 

Mohabbat Shayari In Hindi | मोहब्बत शायरी



करूँगा क्या जो मोहब्बत में हो गया नाकाम
मुझे तो और कोई काम भी नहीं आता -ग़ुलाम मोहम्मद क़ासिर


Karunga Kya Jo Mohabbat Me Ho Gaya Nakaam

     Mujhe Toh Aur Koi Kaam Bhi Nahi Aata -Gulaam Mohammad Kaasir


 

Mohabbat Shayari Wallpaper



मुस्कुराने से शुरू और रुलाने पे खतम

ये वो जुल्म हैं जिसे लोग मोहब्बत कहते हैं


Muskuraane Se Shuru Aur Rulaane Pe Khatam

Ye Wo Zulm Hai Jise Log Mohabbat Kehte Hai


 

Mohabbat Shayari In Hindi Font



इतना आसान नहीं है शहर मोह्हबत का 
यहां खुद भी भटकते हैं रास्ता बताने वाले

 

Itna Asaan Nahi Hai Shehar Mohabbat Ka

Yahan Khud Bhi Bhatakte Hai Raasta Batane Waale



Mohabbat Bhari Shayari Hindi Me



अपनी तबाहियों का मुझे कोई ग़म नहीं
तुम ने किसी के साथ मोहब्बत निभा तो दी -साहिर लुधियानवी


Apni Tabahiyon Ka Mujhe Koi Gum Nahi

         Tum Ne Kisi Ke Sath Mohabbat Nibha Toh Di -Sahir Ludhiyanwi



Mohabbat Shayari 2 Lines



जब हो जाये मेरी "मोहब्बत" पे एतबार 
तो लौट आना हम आज भी तेरे "इन्तजार" में हैं


Jab Ho Jaaye Mei Mohabbat Pe Aitbaar

Toh Laur Aana Hum Aaj Bhi Tere Intezaar Me Hai



Pyar Mohabbat Shayari 2 Lines



मुसाफ़िरों से मोहब्बत की बात कर लेकिन
मुसाफ़िरों की मोहब्बत का एतबार न कर -उमर अंसारी


Musaafiron Se Mohabbat Ki Baat Kar Lekin

   Musafiron Ki Mohabbat Ka Aitbaar N Kar-Umar Ansari



Pyar Mohabbat Shayari In Hindi



दिल छिपा रखी है मुहब्बतें काले धन की तरह 
खुलासा नही करते कहीं हंगामा न हो जाए 


Dil Chipa Rakhi Hai Mohabbat Kaale Dhan Ki Tarah

Khulaasa Nahi Karte Kahin Hungama N Ho Jaaye



 

उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दो
न जाने किस गली में ज़िंदगी की शाम हो जाए -बशीर बद्र


Ujaale Apni Yaadon Ke Hamre Sath Rehne De

N Jaane Kis Gali Me Zindagi Ki Shaam Ho Jaaye -Basir Badr



 

मोहब्बत कैसी भी हो कसम से
सजदा करना सिखा देती है


Mohabbat Kaisi Bhi Ho Kasam Se

Sazada Karna Sikha Deti Hai



 

मोहब्बत किससे और कब हो जाये अदांजा नहीं होता 
ये वो घर है, जिसका दरवाजा नहीं होता


Mohabbat Kisase Aur Kab Ho Jaaye Andaaza Nahi Hota

Ye Wo Ghar Hai Jiska Koi Darwaaja Nahi Hota



 

बरबाद करने के और भी रास्ते थे “फ़राज़”

ना जाने उन्हें मोहब्बत का ख़याल क्यों आया - Ahmad Faraz


Barbaad Karne Ke Aur Bhi Raaste The "Faraz"

    Na Jaane Unhe Mohabbat Ka Khayal Kyu Aaya -Ahmad Faraz



Pyaar Mohabbat Shayari Collection



हम ने भी मोहब्बत की थी मगर

कुछ भी न मिला हसरत के सिवा


Hamne Bhi Mohabbat Ki Thi Magar

Kuch Bhi N Mila Hasrat Ke Siva



Meri Mohabbat Shayari



किस्मत से अपनी मुझको हमेशा शिकायत रहेगी ,

जो न मिल सका उससे मुहब्बत रहेगी


Kismat Se Apni Mujhko Hamesha Shikayat Rahegi

Jo N Mil Saka Usase Mohabbat Rahegi


  
Read More - 

    Mohabbat Shayari In Hindi | मोहब्बत शायरी Mohabbat Shayari In Hindi | मोहब्बत शायरी Reviewed by Feel neel on January 20, 2020 Rating: 5

    4 comments:

    Powered by Blogger.